China Tsinghua University Survey Report Shows About 92 Percent People Feel Threatened By India

0
150

China Survey On India: 2020 में हुई गलवान हिंसा के बाद से ही भारत (India) और चीन (China) के बीच सीमा रेखा पर काफी ज्यादा तनाव बना हुआ है. तब से अब तक कई बार भारत और चीन के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो चुकी है. इस वजह से चीन हमेशा भारत को एक दुश्मन के नजर से देखता है. चीन में PM शी जिनपिंग की सरकार भारत की कई मौकों पर आलोचना भी करते रहते हैं.

हाल ही में चीन में एक सर्वे किया गया है, जिसमें ये बात सामने निकल कर बाहर आयी है कि चीन के लोग भारत को अपना सबसे बड़ा खतरा मानते हैं. इस बात का खुलासा एक रिपोर्ट में हुआ है. शिंघुआ यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि करीब 92 फीसदी लोग भारत से खतरा महसूस करते हैं. वहीं, सिर्फ 8 फीसदी लोग भारत को अपना खतरा नहीं मानते हैं.

पिछले तीन साल में बड़ा बदलाव
चीन के शिंघुआ यूनिवर्सिटी में साल 2020 में भी एक सर्वे किया गया था, जिसमें ये दावा किया गया था कि लगभग 27 फीसदी लोग भारत को अपना एक अच्छा पड़ोसी मानते है. वहीं 73.6 फीसदी लोगों ने भारत को खतरा माना था, लेकिन तीन साल के बाद इस आंकड़े में बहुत ज्यादा अंतर देखने को मिला है और ये खतरे के आंकड़े में लगभग 20 फीसदी का इजाफा हुआ है, जो 73 से बढ़कर 92 हो चुका है. इसके कई कारण हो सकते है. सबसे पहले जिस तरह से भारत में अपने बॉर्डर की सुरक्षा में मजबूती लायी है और चीनी सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया है.

अन्य देशों पर सर्वे
चीन में भारत के अलावा कई देशों को लेकर सर्वे किया है, जिसमें रूस भी शामिल है. चीनी लोगों ने रूस को अपना सबसे अच्छा दोस्त माना है. सर्वे रिपोर्ट के अनुसार 60 फीसदी चीनी लोग रूस को अपना दोस्त मानते हैं. इसके अलावा इंटरनेशनल मुद्दों पर भी सर्वे किया गया, जिसमें करीब 80 फीसदी को मानना है कि वो इंटरनेशनल मुद्दों के बारे जानते है और 60 फीसदी लोग मानते है कि चीन पर इंटरनेशनल मुद्दों का असर चीन के सुरक्षा पर पड़ता है.

ये भी पढ़ें:

Watch: ड्रैगन के फाइटर जेट ने समुद्र के ऊपर से ऐसी भरी उड़ान, डगमगा गया अमेरिकी जहाज, देखें वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here