Rahul Gandhi US Visit From Modij God To Guru Nanak In His USA Journey

0
143

Rahul Gandhi’s USA Visit: कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों अमेरिका की 10 दिवसीय यात्रा पर गए हुए हैं जहां वह वहां के कुल तीन शहरों सैन फ्रांसिस्को, वाशिंगटन और न्यूयॉर्क में रहेंगे. अमेरिका में पहले दिन से ही राहुल गांधी भारतीय समुदाय के लोगों से भारत में लोकतंत्र, एकता और राजनीति की स्थिति के बारे में बातचीत कर रहे हैं, हम इस रिपोर्ट में आपको राहुल गांधी के अब तक अमेरिका में दिए गए बयानों के बारे में जानकारी देंगे.

कांग्रेस नेता बुधवार को कैलीफोर्निया के सांता क्लारा में भारतीय समाज से रूबरू हुए और उन्होंने इस दौरान पीएम मोदी को लेकर कई अहम बयान दिए. उन्होंने कहा, पीएम मोदी अगर भगवान के साथ भी बैठ जाएं तो वह उनको समझा देंगे कि ब्रम्हांड कैसे काम करता है, उनको हर चीज के बारे में पता है. वह सेना को युद्ध लड़ने के बारे में बता देंगे, वह इतिहासकारों को इतिहास, वैज्ञानिकों को विज्ञान के बारे में जानकारी दे देंगे. पीएम मोदी ऐसे ही व्यक्ति हैं. 

‘गुरुनानक थाईलैंड गए थे’
कैलिफोर्निया के सांता क्लारा में एक सवाल का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा, मुझसे पहले हमारे ही देश के कई लोग भारत जोड़ो यात्रा कर चुके हैं. उन्होंने कहा, मैंने कहीं पढ़ा था, गुरुनानक जी भारत से मक्का गये थे जोकि सऊदी अरब में है, उसके बाद वह थाईलैंड गये और वहां से वह श्रीलंका गये थे, तो इन दिग्गजों ने मुझसे बहुत पहले भारत जोड़ो यात्रा की थी जब मैंने जन्म भी नहीं लिया था.

‘डेटा नया सोना है’
राहुल गांधी ने कहा, भारत में डेटा सुरक्षा के लिए उचित नियमों को बनाए जाने की जरूरत है, क्योंकि डेटा इज अ न्यू गोल्ड. उन्होंने कहा एक ऐसा समय था जब उनको पता था कि उनका फोन टैप किया जा रहा है और वह फोन उठाते ही बोलते थे, हेलो मिस्टर मोदी. उन्होंने कहा, वह उनकी जासूसी किए जाने को लेकर चिंतित नहीं हैं क्योंकि अगर कोई देश तय करता है कि वह आपका फोन टैप करना चाहता है, तो इसे कोई रोक नहीं सकता है. 

‘अल्पसंख्यक असहाय महसूस कर रहे हैं’
राहुल गांधी ने आगे कहा, इस देश में जो अल्पसंख्यक हैं वह भी खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि आज भारत में गरीब और अल्पसंख्यक समुदाय के लोग खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा, भारतीय एक-दूसरे से नफरत करने में विश्वास नहीं करते, कुछ लोगों का एक छोटा समूह है जो व्यवस्था और मीडिया को नियंत्रित करता है, वह नफरत की आग भड़का रहा है.

आसान नहीं हैं भारत-चीन संबंध
राहुल गांधी ने कहा कि चीन भारत पर कुछ थोप नहीं सकता और भारत के चीन के संबंध आसान नहीं हैं, ये मुश्किल होते जा रहे हैं. उन्होंने कहा हम दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध अभी मुश्किल अवस्था में है और उन्होंने हमारे क्षेत्र में कब्जा कर रखा है, और वह भारत पर अपनी शर्तें थोपना चाहता है और हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते.

2000 Rupee Note: दो हजार रुपये का नोट बदलने के खिलाफ याचिका सुनने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- जरूरी मामला नहीं

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here